Drinking green tea makes 11 healthy, green tea is a routine

Drinking green tea makes 11 healthy, green tea is a routine

ग्रीन टी पीनेसे होते है ११ फाइदे, ग्रीन टी को करे दिनचर्यामेसामील


ग्रीन टी शरीरके लिए बहुत फाइदेमन्द होते है, चिकित्सकके सल्लाह माने तो ग्रीन टी दिनमे एकदो बार पीने से अधिक फाइदा होता है

वैसे फाइदेमन्द जानकर दिनभर ग्रीन टी ही पीते रहना स्वास्थ्यके लिए नोक्सानदायक भी हो सकता है यदि आप ग्रीन टीका सेवन करना चाहते है तो आपके लिए ये जानना बेहद जरुरी है कि इसका सेवनसे किस तरहका फायदा और नोक्सान हो सकता है

यदि आप इसका सेवन अभितक नहि कर रहे थे तो आज से ही शुरु कर दें ग्रीन टीमे एन्टीआँक्सीडेंट्स और पोलीफोल्स भरपुर मात्रामे होते है, जो रोगसे लडनेकी शारीरिक क्षमताको अधिक बढा देते है

लेकिन फिर भी ये चायका ही एक प्रकार है, इसलिए ग्रीन टी भी दिनमे कप से ज्यादा नही लेना चाहिए इससे ज्यादा लेना आपके शरीरकी कार्यप्रणालीको प्रभावित कर सकता है

इसका ज्यादा सेवनसे उल्टी, चक्कर और गैसकी परेशानी हो सकती है इसमे मौजुद कैफीन और टेनिन्स पेटको नुकसान पहुंचा सकते है ग्रीन टीमे सबसे प्रभावशाली यौगिक ईजीसीजी मौजुद है, जिसे एपीगैलोकैटेकिन गैंलेट के नामसे भी जाना जाता है

अन्य महत्पूर्ण यौगिक जो ग्रीन टी मे सामील वह है

प्रोटीन
विटामिनसी
थियनाइन
एमिनो एसिड एंजाइम
कार्बोहाइड्रेट, विटामिनबी  
मैग्नीशियम, कैल्शियम, मैंगनीज, लौह, क्रोमियम, तांबा जिंक जैसा खनीजों सहित मौजूद
पोषक तत्व स्वास्थ्यके लिए फायदेमंद है  

स्वास्थ्यकेलिए क्यों अच्छी है ग्रीन टी, जाने ग्रीन टी के ११ फायदे

 मधुमेह

जो व्यक्ति मधुमेह रोगसे जूझ रहे है उनलोगो के लिए बहुत फायदेमन्द है ग्रीन टी ग्रीन टी मे पाँलीफेनाँल्स भरपूर मात्रा मे होता है, अर्थात एंटीआँक्सीडेंट एंटी फ्लेमेटरी होत है, जो डायबिटीजके मरीजोंमे दिलके रोगों के खतरे कम करनेमे मददगार होता है

इसके सेवनसे रक्त शर्करा के स्तरको स्थिर बनाए रखनेमे मदद करती है ग्रीन टी अग्न्याशयमे इंसुलिनके उत्पादनको बढा सकती है, डायबिटीज मरीजको अपने आहारमे इसे जरुर सामील करना चाहिए  


 उच्च रक्तचापमे ग्रीन टी 

आँक्सीडेटिव तनाव से खूनमे फैट बढता है, जिससे धमनियों मे सूजन जाती है और यह उच्च रक्तचाप - हाई बीपी _ का कारण बनता है
ब्लड प्रेशर आमतौर पर एंजियोटेनसिनकंवर्टिंग एंजाइम - एसीइयह किडनी से निकलता है _ के कारण होता है मूलरुपमे उच्च रक्तचापकी दवाईयां एसीई अवरोधक के रुपमे काम करती है, लेकिन ग्रीन टी प्राकृतिक रुपमे एसीई अवरोधक होता है

यह एंजाइम की क्रियाको रोकता है और उच्च रक्तचापको नियन्त्रित करनेमे मदद करता है जो लोग दो से तीन कप ग्रीन टी का सेवन नियमित रुप से करते हे वे उच्च रक्तचापके खतरेसे कम प्रभावित होते है  


दिलके लिए ग्रीन टी

हानिकारक कोलेस्ट्राँल, जिससे हृदय रोगका खतरा रहता है ग्रीन टी उसके स्तरको कम कर सकती है अध्ययन रिपोर्टके अनुसार ग्रीन टी दिलके लिए काफी फायदेमंद है और इसका सेवन दिल की बीमारियों से बचा सकता है

ग्रीन टी कार्डियोवैस्कुलर बीमारीका एक प्रमुख कारण एथरोस्क्लेरोसिस को रोकनेमे मदद करता है अध्ययनके अनुसार ग्र्रीन टी खराब कोलेस्ट्राँलके स्तरको कम करती है, लेकिन यहा अच्छे कोलेस्ट्राँलको प्रभावित नहीं करती  

दिमागके लिए ग्रीन टी

ग्रीन टी मे मौजुद बायोएक्टिव यौगिकोंके कारण न्यूराँन्स पर सकारात्मक प्रभाव होता है जिससे अल्जाइमर और पार्किसंस जैसी बीमारियों की वजह से होने वाली क्षति कम हो सकता है

अपनी स्मृति को बढाने और रोगको दूर कर सकते है इससे याददाश्त तेज होती है, ज्ञान बढता है और ब्रेन फंक्शन भी अच्छा होता है कैफीन और एलथेनाइन इन दोनोका मेल मस्तिष्क स्वास्थ - दिमाग _ के लिए बहुत ही प्रभावशाली है  

बालोके सुरक्षाके लिए ग्रीन टी

ग्रीन टी मे कुछ शक्तिशाली एंटीआँक्सीडेंट पाए जाते है, जो बालोके समस्याओंको कम करनेमे मदद करता है

एक शोधके अनुसार ग्रीन टी मे विटामिन बी - पेंथेनाँल _ होता है, जो दो मुंहे बालोंको कम करनेके साथही बालोंको नरम भी बनाता है इसमे एंटीआँक्सीडेंट ईजीसीजी” होता है जो बालों के विकासको बढाता है  


वजन कम करने के लिए ग्रीन टी 

ग्रीन टी का सेवन नियमित करने से शरीरमे वसा प्रतिशत, शरीरका वजन ओर कमर की चर्बी को कम करनेमे मदद करता है

इसके अलावा ग्रीन टी मे मौजुद कटेचिंस शरीरमे गर्मीै उत्पन्न करता है, जिसके कारण अतिरिक्त कैलोरी जलाने मे भी मदद मिलती है

ग्रीन टी मे कैफीन होता है और एक प्रकारका फ्लैवोनाँयड होता है जिसे कैटेचिन कहा जाता है जो की एक एंटीआँक्सीडेंट होता है

केटेचिन अतिरिक्त बसा तोडनेमे मदद करता है, जबकि केटेचिन और कैफीन दोनो शरीरमे ऊर्जाको बढा कर शरीरको चुस्त रखनेमे मदद करते है  

गठीयाके लिए ग्रीन टी

ग्रीन टी मे ईजीसीजी के एंटीआँक्सीडेंट प्रभाव प्रमुख भूमिका निभाते है ये शरीरमे छोटछोटे माँलिक्यूल के उत्पादन को सीमित करता है, जो सूजन और गठिया दर्दका कारण बनते है

ग्रीन टी मे मौजूद ईजीसीजी आर्थराइटिस पर काफी प्रभावी होता है और इसमे मौजुद ईजीसीजी, रुमेटोइड गठिया मे सूजन को कम करके आराम पहुँचाता है  

लंबी उम्र के लिए ग्रीन टी

ग्रीन टी आपकी इम्युनिटी को बढाकर कईं बीमारियों से बचाता है जिससे आपकी उम्र लंबी होती है ये दीर्घायुको बढावा दे कर त्वचा रोगोका इलाज करते है, इससे सुर्य से होने वाली क्षतिको भी कम कर सकते है  



मजबूत हडियों के लिए ग्रीन टी

ग्रीन टी मे फ्लोराइड अधिक मात्रामे होता है जो हडियो की शक्तिको बनाए रखनेमे मदद करता है

यह हडियों की निर्माण कोशिकाओं को गतिविधियों को बढानेमे मदद करती है ग्रीन टी की नियमित सेवन से हडियों के फ्रैक्चर के जोखीमको कम करती है  

१० कैंसर के इलाजमे ग्रीन टी 

शोधकर्ताओं के अनुसार ग्रीन टी मे पाँलीफेनाँल का स्तर अधिक होता है जो कैंसर कोशिकाओं को मारनेमे मदद करता है और उन्हे बढने से रोकता है

अध्ययनके रिपोर्ट अनुसार इसमे मौजूद पाँलीफेनाँल ट्यूमर बढने से रोक सकता है और पैराबैंगनी किरणों से हाने वाली क्षति को भी कम करने मे मदद करता है

ग्रीन टी मे एंटीआँक्सीडेंट विटामिन सी की तुलनामे सौ गुना अधिक प्रभावी है और विटामिन की तुलनामे चौबीस गुना अधिक प्रभावी है, इसलिए इसका नियमित सेवन से कैंसर विरोधी लाभ हो सकते है  

११ कोलेस्ट्राँल कम करते है ग्रीन टी

कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्राँल अर्थात बुरा कोलेस्ट्राँल के स्तर को कम करती है ग्रीन टी साथ ही यह उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन अर्थात अच्छा कोलेस्ट्राँल के स्तर को बढाने मे मदद करती है

ग्रीन टी धमनियों को साफ रखती है जिससे दिलका दौरा या स्ट्रोक होनेका खतरा कम होता है  

कब पीये ग्रीन टी

सुबह एक कप - करीब १० बजे से ११ बजे के बीच _ और एक कप शामको लेना चाहिए सुबह जल्दी ग्रीन टी पीना अच्छा रहता है, यह पाचन तन्त्रके लिए अच्छा साबित होता है

देर रातमे ग्रीन टी नले इससे नींदमे खलल डाल सकता है  

ग्रीन टी के नुकसान

पेट दर्द की समस्या हो सकती है
अनिंद्रा हो सकती है
सिर दर्द की समस्या हो सकती है
उल्टी या डायरिया जैसी समस्या हो सकती है
शरीरमे आयरन की कमी या एनिमिया जैसी बीमारी हो सकती है

Post a Comment

0 Comments